Subhas Chandra Bose Jayanti

हमें अपने जीवन का निर्माण उस सिद्धांत पर करना है जिसमें अधिकतम सत्य है। हम स्थिर नहीं बैठ सकते क्योंकि हम परम सत्य को नहीं जान सकते हैं या नहीं जान सकते हैं।

यह मत भूलो कि अन्याय और अन्याय के साथ समझौता करना सबसे बड़ा अपराध है। शाश्वत नियम याद रखें: यदि आप प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको देना होगा।

आखिरकार, हमारी कमजोर समझ को पूरी तरह से समझने के लिए वास्तविकता बहुत बड़ी है। फिर भी, हमें अपने जीवन का निर्माण उस सिद्धांत पर करना है जिसमें अधिकतम सत्य है।

अविरल राष्ट्रवाद और पूर्ण न्याय और निष्पक्षता के आधार पर ही भारतीय मुक्ति सेना का निर्माण किया जा सकता है।

मनुष्य, धन और सामग्री अपने आप में विजय या स्वतंत्रता नहीं ला सकते। हमारे पास वह प्रेरक-शक्ति होनी चाहिए जो हमें वीर कर्मों और वीर कारनामों के लिए प्रेरित करे।

यदि कोई जोखिम नहीं है तो जीवन में कोई संघर्ष नहीं होने पर जीवन अपनी आधी रुचि खो देता है।

एक व्यक्ति एक विचार के लिए मर सकता है, लेकिन वह विचार, उसकी मृत्यु के बाद, एक हजार जन्मों में अवतरित होगा।